four बेटे होने के बाद भी चौकीदारी करने को मजबूर है ये बुजुर्ग, एक बेटा प्रोफेसर तो दूसरा बिजनेसमैन

Please log in or register to like posts.
News
4 बेटे होने के बाद भी चौकीदारी करने को मजबूर है ये बुजुर्ग, एक बेटा प्रोफेसर तो दूसरा बिजनेसमैन

four बेटे होने के बाद भी चौकीदारी करने को मजबूर है ये बुजुर्ग, एक बेटा प्रोफेसर तो दूसरा बिजनेसमैन

NEW DELHI: आज हम आपको एक ऐसे बुजुर्ग पिता के बारे में बताने जा रहे है जो कि four बेटे होने के बावजूद चौकीदारी करने को मजबूर है। दरअसल मामला, ऐशबाग स्टेडियम के पास स्थित जगन्नाथ कॉलोनी की गली नंबर दो में रहने वाले श्रीराम दांगी का है। जिनके चार बेटे है। एक बेटा सेना से रिटायर है। दूसरा इंदौरकी वेल्डिंग रॉड बनाने की फैक्ट्री है। तीसरा बेटा 80 बीघा जमीन का मालिक है और चौथा बेटा कॉलेज में प्रोफेसर है। पढ़े लिखे और सक्षम होने के बाद भी चारों बेटे बुजुर्ग पिता को साथ रखने को तैयार नहीं है।
हृदय रोग और डायबिटीज से पीड़ित पिता चौकीदारी करने को मजबूर हैं। उन्होंने पिछले दिनों भरण पोषण की राशि दिलाने के लिए शहर एसडीएम वंदना जैन की कोर्ट में आवेदन लगाया था। इस पर सुनवाई करते हुए एसडीएम जैन ने गुरुवार को चारों बेटों को कुल 10 हजार रुपए महीना भरण-पोषण राशि देने के आदेश दिए हैं। इस आदेश का उल्लंघन करने पर चारो बेटों को जेल भेजने की कार्रवाई भी की जा सकती है।
श्रीराम के पहले बेटे शिवराज सिंह निवासी डी-19 मुस्कान परिसर, अयोध्या बायपास मिलेट्री से रिटायर हैं। वे अमरावतीमें प्राइवेट नौकरी करते हैं, उनकी महीने की आय करीब 95 हजार है। श्रीराम के दूसरे बेटे ओमप्रकाश सिंह निवासी वीआईपी बाजार, सागर। वे सागर के कैंट एरिया में कोचिंग और इंदौर में वेल्डिंग रॉड की फैक्ट्री चलाते हैं। मासिक आय 50 हजार है।
श्रीराम के तीसरे बेटे रामबाबू सिंह निवासी मेरूखेड़ी पोस्ट सोजना गुलाबगंज विदिशा। इनके पास 80 बीघा जमीन, ट्रैक्टर और मकान है। इससे उनको महीने में 50 हजार रुपए की आय होती है। श्रीराम के चौथे बेटे रामजीराम सिंह निवासी अयोध्या बायपास। ये एक प्राइवेट कॉलेज में प्रोफेसर हैं। इनकी सैलरी करीब 30 हजार है।
The submit four बेटे होने के बाद भी चौकीदारी करने को मजबूर है ये बुजुर्ग, एक बेटा प्रोफेसर तो दूसरा बिजनेसमैन appeared first on Ajab Ghazab.

Latest posts by quaint_media (see all)

Reactions

0
0
0
0
0
0
Already reacted for this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *