राफेल सौदे पर राहुल का तंज, कहा- ठगों के सरदार ने अफसर को ठोका

Please log in or register to like posts.
News
राफेल सौदे पर राहुल का तंज, कहा- ठगों के सरदार ने अफसर को ठोका

राफेल सौदे पर राहुल का तंज, कहा- ठगों के सरदार ने अफसर को ठोका

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल विमान सौदे को लेकर गुरुवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर फिर हमला बोला और दावा किया कि ‘चोरी से रोकने वाले’ अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई.गांधी ने एक अखबार की खबर शेयर करते हुए कविता के रूप में अपनी बात को ट्वीट करते हुए लिखा, ‘मोदी-अंबानी का देखो खेल, एचएएल से छीन लिया राफेल. धन्नासेठों की कैसी भक्ति, घटा दिया सेना की शक्ति. जिस अफसर ने चोरी से रोका, ठगों के सरदार ने उसको ठोका.’

मोदी-अंबानी का देखो खेल
HAL से छीन लिया राफेल
धन्नासेठों की कैसी भक्ति
घटा दिया सेना की शक्ति
जिस अफसर ने चोरी से रोका
ठगों के सरदार ने उसको ठोका
पिट्ठुओं को मिली शाबाशी
सेठों ने उड़ती चिड़िया फाँसीजन-जन में फैल रही है सनसनी
मिलकर रोकेंगे लुटेरों की कंपनी https://t.co/XJPbpVoAj3
— Rahul Gandhi (@RahulGandhi) September 27, 2018
उन्होंने आगे अपने ट्वीट में लिखा कि ‘पिट्ठुओं को मिली शाबाशी, सेठों ने उड़ती चिड़िया फांसी. जन-जन में फैल रही है सनसनी, मिलकर रोकेंगे लुटेरों की कंपनी.’कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जो खबर शेयर की है उसके मुताबिक, साल 2016 में राफेल विमान समझौता होने पर रक्षा मंत्रालय के एक संयुक्त सचिव ने विमानों की कीमत को लेकर सवाल किया था. यह अधिकारी विमान खरीद के लिए बातचीत करने वाली समिति का हिस्सा था.बुधवार को भी राहुल गांधी ने राफेल मामले को लेकर सरकार पर हमला बोला था. उन्होंने कहा था कि हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) से 30 हजार करोड़ रुपए का ठेका लेकर एक ‘अकुशल’ व्यक्ति को देना ही प्रधानमंत्री का ‘स्किल इंडिया’ कार्यक्रम है.क्या है पूरा मामला?दरअसल, गांधी और कांग्रेस पिछले कई महीनों से यह आरोप लगाते आ रहे हैं कि मोदी सरकार ने फ्रांस की कंपनी दसॉल्ट से 36 राफेल लड़ाकू विमान की खरीद का जो सौदा किया है, उसका मूल्य पूर्ववर्ती यूपीए सरकार में विमानों की दर को लेकर जो सहमति बनी थी उसकी तुलना में बहुत अधिक है. इससे सरकारी खजाने को हजारों करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है.

Reactions

0
0
0
0
0
0
Already reacted for this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *