भारत को RSS राज में बदलने की कोशिश कर रही है बीजेपी: ओवैसी

Please log in or register to like posts.
News
भारत को RSS राज में बदलने की कोशिश कर रही है बीजेपी: ओवैसी

भारत को RSS राज में बदलने की कोशिश कर रही है बीजेपी: ओवैसी

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने गुरुवार को आरोप लगाया कि बीजेपी भारत को ‘आरएसएस राज’ में बदलने की कोशिश कर रही है और पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा कि वह ‘हताश और बेसुध’ हैं.इससे पहले बुधवार को बीजेपी अध्यक्ष ने कहा था कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस), तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) या कांग्रेस नहीं बल्कि अकेले भगवा दल ही उनके जैसे लोगों से लड़ सकता है.शाह ने यहां एक जनसभा में निजाम शासित हैदराबाद के भारतीय संघ के विलय का दिन (17 सितंबर), ‘हैदराबाद मुक्ति दिवस’ के रूप में ना मनाने के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस के प्रमुख के चंद्रशेखर राव की भी आलोचना की.उन्होंने कहा था, ‘ओवैसी के डर से और मुस्लिम वोट बैंक की खातिर चंद्रशेखर राव ने हैदराबाद मुक्ति दिवस मनाना बंद कर दिया.’शाह की टिप्पणी को लेकर हैदराबाद के सांसद ओवैसी ने कहा कि वह ‘गोरक्षकों की धुन पर ना नाचें.’ उन्होंने कहा, ‘अमित शाह हताश और बेसुध हैं और उन्हें नहीं पता कि तेलंगाना में क्या करें.’एआईएमआईएम के नेता ने कहा, ‘क्योंकि तेलंगाना के लोग एक संस्कृति में विश्वास रखते हैं और ‘गंगा-जुमनी तहजीब’ की तरफ उनका झुकाव है. तेलंगाना में संविधान के अनुरूप शासन है और लोगों पर कानून का शासन है.’उन्होंने कहा, ‘आप (बीजेपी) भारत को आरएसएस का राज बनाने की कोशिश में लगे हैं. इसलिए तेलंगाना के लोग (आपका) पूरी तरह से विरोध करते हैं और आरएसएस एवं उसके संगठनों को वह करने नहीं देंगे जो वह बीजेपी शासित राज्यों में कर रहे हैं.’ओवैसी ने कहा, ‘अमित शाह से पूछता चाहता हूं कि आप गोरक्षकों की धुन पर क्यों नाच रहे हैं? आप उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं कर रहे हैं जो देश के युवाओं को नुकसान पहुंचा रहे हैं?’उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित राज्यों के उलट तेलंगाना में एक दूसरे से बात करने पर लड़के लड़कियों को परेशान नहीं किया जाता, ना ही ‘गाय के नाम पर’ लोगों को मारा जाता है.

Reactions

0
0
0
0
0
0
Already reacted for this post.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *